Tuesday, December 8, 2009

मंत्री सांसद बाबू अफसर सभी रंग में रंगे हैं
किस किस के गुन दोष परखी सब हमाम में नागे हैं

नैतिकता की बात करें पर दूर दूर नही नैतिकता
येन केन धन अर्जित करते हावी होगी भौतिकता
राजनीति में सत्तालोलुप जनहित हेतु अड़ंगे हैं

सांसद और विधायक निधि क्यों शुरू हुई मतलब समझो
याद करो इतिहास गौर है विकास हित मतलब समझो
नरसिंह राव काल की स्मृति शूत्केस के संगे हैं

2 comments:

  1. बढ़िया प्रस्तुति पर हार्दिक बधाई.
    ढेर सारी शुभकामनायें.

    संजय कुमार
    हरियाणा
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. भास्कर जी टिप्पड़ी प्रेषित करने के लिए धन्वाद

    ReplyDelete